मजा आता अगर गुजरी हुई बातों का अफसाना,
कहीं से तुम बयाँ करते, कहीं से हम बयाँ करते।