यार पहलू में…

यार पहलू में है, तन्हाई है, कह दो निकले,
आज क्यूँ दिल में छुपी बैठी है हसरत मेरी।