Bhija me jahar

फ़िज़ा में ज़हर भरा है जरा संभल कर चलो,

मुखालिफ आज हवा है जरा संभल कर चलो,

कोई देखे न देखे बुराइयां अपनी..

खुदा तो देख रहा है जरा संभल कर चलो।

About techindia