दोस्ती शायरी Archives - Page 2 of 3 - हिंदी शायरी - Hindi Shayari

मुस्कराहट मोल नहीं…

Posted on

मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता, कुछ रिश्तों का कोई तोल नहीं होता, लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर लेकिन, हर कोई आपकी तरह अनमोल नहीं होता।

सवाल दोस्ती का नहीं…

Posted on

सवाल पानी का नहीं . सवाल प्यास का है सवाल सांसो का नहीं . सवाल मौत का है दोस्त तो दुनिया में बहुत मिलते है सवाल दोस्ती का नहीं . सवाल ऐतवार का है

अनमोल लोगो से दोस्ती…

Posted on

खुश हूँ और सबको खुश रखता हूँ, लापरवाह हूँ फिर भी सबकी परवाह करता हूँ.. मालूम है कोई मोल नहीं मेरा, फिर भी, कुछ अनमोल लोगो से दोस्ती रखता हूँ।

दोस्ती अपने जैसी…

Posted on

दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो तो इतिहास बनाती है।

दोस्त आपकी दोस्ती का क्या खिताब दे, करते है इतना प्यार की क्या हिसाब दे। अगर आपसे भी अच्छा फूल होता तो ला देते, लेकिन जो खुद गुलदस्ता हो उसे क्या गुलाब दे।

सच्ची है मेरी दोस्ती आजमा के देखलो, करके यकीं मुझ पे मेरे पास आके देखलो, बदलता नहीं कभी सोना अपना रंग, जितनी बार दिल करे आग लगा कर देखलो।

तू दूर है मुझसे और पास भी है, तेरी कमी का एहसास भी है, दोस्त तो हमारे लाखो है इस जहाँ में, पर तू प्यारा भी है और खास भी है।